वेब ब्राउज करते समय अपने पर्सनल डेटा को सुरक्षित रखने के 5 तरीके

सारांश: सुरक्षित ब्राउजिंग करने के लिए इस ब्लॉग में 5 बेस्ट प्रैक्टिस के बारे में बताया गया है। ये प्रैक्टिस आपकी ऑनलाइन प्राइवेसी को सुरक्षित रखने और आपके कॉन्फीडेंटिअल डेटा को अनऑथोराइज़्ड एक्सेस से बचाने में आपकी मदद करती हैं। आप BitRaser File Eraser के बारे में भी जानेंगे, यह ब्राउजिंग हिस्ट्री मिटाने वाला एक प्रोफेशनल सॉफ्टवेयर है, जो कुशलतापूर्वक आपके ऑनलाइन गतिविधियों के डेटा को मिटा देता है और यह सुनिश्चित करता है कि डेटा गलत हाथों में न पड़े।

आप नीचे दिए गए बटन से सॉफ्टवेयर को खरीद सकते हैं और अपनी फाइल्स को हमेशा के लिए डिलीट कर सकते हैं।

Buy @499

आज का इंटरनेट कुशल और तेज है लेकिन बहुत सुरक्षित नहीं है। आइडेंटिटी थेफ्ट, क्रेडिट कार्ड की धोखाधड़ी, ऑनलाइन वायरस हमलों के मामले लगभग हर दिन समाचार में आते रहते हैं।

स्टेलर की ओर से खास ऑफर

डेटा इरेजर सॉफ्टवेयर और सर्विस पर विशेष ऑफर प्राप्त करने के लिए help@stellarinfo.com पर ईमेल करें।

एक एंटीवायरस केवल एक निश्चित सीमा तक ही आपकी सुरक्षा कर सकता है, लेकिन सुरक्षित ब्राउजिंग करना और उसे बनाए रखना हर एक व्यक्ति की जिम्मेदारी होती है। ये प्रैक्टिस आपके ब्राउज़िंग अनुभव को अधिक सुरक्षित बनाते हैं और सुनिश्चित करते हैं कि आपके पर्सनल डेटा से समझौता नहीं किया गया है।

इस ब्लॉग में, हम इंटरनेट ब्राउज करते समय पर्सनल डेटा को सिक्योर करने के लिए इन बेस्ट प्रैक्टिसेस को जानेंगे।.

  1. अपने ब्राउजिंग हिस्ट्री को नियमित रूप से क्लीन करें

अपनी ऑनलाइन प्राइवेसी को सुरक्षित रखने के लिए सभी स्टेप्स में से सबसे महत्वपूर्ण स्टेप्स, नियमित रूप से अपनी ब्राउजिंग हिस्ट्री को क्लीन करना  है। आपका ब्राउजर आपके द्वारा देखी जाने वाली वेबसाइटों, आपके सोशल मीडिया क्रेडेंशियल्स, क्रेडिट कार्ड डिटेल्स, ऑनलाइन बैंकिंग लॉगिन डिटेल्स इत्यादि के डिटेल्स को ट्रैक और सेव करता है। आपका डेटा ब्राउजर में कुकीज के रूप में सेव होता है, और ब्राउजिंग डेटा का ब्रीच आपको बहुत परेशानी में डाल सकता है।

अपनी ब्राउजिंग हिस्ट्री को कैसे क्लीन करें?

Bitraser File Eraser

ब्राउजर सेटिंग का उपयोग करना अपने ब्राउजिंग हिस्ट्री को क्लीन करने का सबसे आसान तरीका है। प्रत्येक ब्राउजर में एक विकल्प होता है जिससे आप इंटरनेट हिस्ट्री डेटा और अन्य आइटम्स जैसे कुकीज, कैशे, सेव पासवर्ड, आदि को आसानी से डिलीट कर सकते है।  उदाहरण: Google Chrome में, यह विकल्प More tools > Clear Browsing Data में जाकर मिलता है। इसका कीबोर्ड शॉर्टकट Ctrl + Shift + Del है।

फिर भी, इस विधि द्वारा हटाया गया डेटा परमानेंट डिलीट नहीं होता है । डेटा रिकवरी सॉफ्टवेयर आपके हटाए गए ब्राउजिंग डेटा को आसानी से रिकवर कर सकता है, जैसे कि लोकल सिस्टम पर सेव कुकी फाइल्स।

आपके ब्राउजिंग डेटा को परमानेंट रूप से मिटाने और अपनी ऑनलाइन प्राइवेसी को सुरक्षित रखने का एकमात्र सुरक्षित तरीका फाइल इरेजर सॉफ्टवेयर का उपयोग करना है। फाइल इरेजर सॉफ्टवेयर आपके द्वारा हटाए जाने वाले डेटा के ओवरराइट करता है और यह सुनिश्चित करता है कि कोई भी डेटा रिकवरी सॉफ्टवेयर आपकी जानकारी को रिकवर नहीं कर सकता है।

सबसे भरोसेमंद फाइल इरेजर सॉफ्टवेयर में से एक है BitRaser File Eraser है, जो कुशलतापूर्वक आपके सभी ऑनलाइन गतिविधियों को मिटा देता है, जिसमें कुकीज और सेव पासवर्ड भी शामिल होते हैं। ऑनलाइन डेटा मिटाने के अलावा, BitRaser File Eraser आपके सिस्टम से फाइल, फोल्डर, एप्लिकेशन ट्रैस आदि को भी मिटा सकता है। यह विंडोज और मैक दोनों के लिए उपलब्ध है।

BitRaser Software Interface

इमेज 1: BitRaser फाइल इरेजर इंटरफेस

यह बड़े पैमाने पर किसी भी डाटा को नष्ट कर देता है जो लैपटॉप में होता है। आप नीचे दिए गए बटन से सॉफ्टवेयर को खरीद सकते हैं।

Buy @499

  1. पासवर्ड गाइडलाइन

पासवर्ड आपके पर्सनल, प्रोफेशनल और फाइनेंसियल डिटेल्स की कुंजी (key) हैं। यदि आप कुंजी खो देते हैं, तो कोई भी लॉक खोल सकता है और आपके संवेदनशील डेटा तक पहुंच प्राप्त कर सकता है।

सुरक्षित ब्राउजिंग निम्न पासवर्ड गाइडलाइन से शुरू होती है:

  1. अपना पासवर्ड स्ट्रॉंग रखें:

पासवर्ड सेट करते समय हमेशा अक्षरों, अंकों और विशेष वर्णों का एक स्ट्रॉंग कॉम्बिनेशन उपयोग करें। इसके अलावा, सुनिश्चित करें कि आपके पासवर्ड में lowercase और uppercase अक्षरों का कॉम्बिनेशन है।

a. पासवर्ड यूनिक हो:

विभिन्न साइट्स के लिए यूनिक पासवर्ड होना जरूरी है। इस तरह, आप नुकसान की सीमा को सीमित कर देते हैं यदि कोई हैकर आपके किसी पासवर्ड को एक्सेस कर लेता है। है।

b. सेव पासवर्ड सुविधा का उपयोग न करें:

जब भी आप वेब सर्फ करते हैं, तो आपका ब्राउजर आपको पासवर्ड सेव करने के लिए कहता है। अपने ब्राउजर का पासवर्ड स्टोर करना सुरक्षित नहीं है। ब्राउजर डेटा साइबर हमलों और आइडेंटिटी थेफ्ट के लिए असुरक्षित है।

c. Click Bait से बचें

यदि वेब या ईमेल पर कोई लिंक संदिग्ध लगता है, तो यह संभव है। ये लिंक (फिशिंग लिंक कहलाते हैं) आपके कंप्यूटर पर स्वचालित रूप से हानिकारक प्रोग्राम डाउनलोड कर सकते हैं। इसलिए, इन लिंक्स के शिकार न हों और इनसे पूरी तरह बचें।

क्लिक बैट्स कभी-कभी आकर्षक हेडलाइंस के साथ विज्ञापनों की तरह दिख सकते हैं। उनका उद्देश्य आपको अपनी साइट पर ले जाना होता है और फिर आपके डाटा को स्टोर कर लिया जाता है। आजकल, कई एप्लिकेशन क्लिक बैट्स को रोकने के फीचर्स प्रदान करते हैं। आप अपने ब्राउजर पर एक उपयुक्त add blocker एक्सटेंशन का विकल्प भी चुन सकते हैं। ये एक्सटेंशन आने वाले विज्ञापनों को रोकते हैं और इस तरह आपकी ब्राउजिंग सुरक्षित रहता है।

  1. Two Factor Authentication का उपयोग करें

टू फैक्टर ऑथेंटिकेशन सुरक्षा की एक अतिरिक्त परत है (यूजर नेम पासवर्ड कॉम्बिनेशन के साथ) जो आपके ऑनलाइन खाते में प्रवेश को रोकता है। जीमेल, ड्रॉपबॉक्स और एवरनोट आदि जैसे एप्लिकेशन टू फैक्टर ऑथेंटिकेशनण प्रदान करते हैं। आपके द्वारा उपयोग किए गए किसी भी एप्लिकेशन में यदि आपको टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन का विकल्प दिखाई देता है, तो उसे ऑन कर दें।

  1. VPN का उपयोग करें

वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क (या वीपीएन) आपके ब्राउजिंग अनुभव को सुरक्षित करने का एक शानदार तरीका है। ये मुख्य रूप से तभी आवश्यक होते हैं जब आप एक अनट्रस्टेड वाई-फाई नेटवर्क पर सर्फिंग करते हैं। वीपीएन आपके कंप्यूटर और इंटरनेट के बीच एक सुरक्षित कनेक्शन बनाता है, और एक्सचेंज किये गए डेटा को एन्क्रिप्ट करता है। एक वीपीएन आपके ऑनलाइन कम्युनिकेशन को एन्क्रिप्ट करता है, जिससे किसी को भी आपकी ऑनलाइन गतिविधियों को ट्रैक करना असंभव हो जाता है।

निष्कर्ष::

इस ब्लॉग में, हमने आपकी ब्राउजिंग हिस्ट्री की सुरक्षा के लिए बेस्ट प्रैक्टिसेस पर चर्चा की है, जैसे कि नियमित रूप से अपने ब्राउजिंग हिस्ट्री को क्लीन करना, पासवर्ड गाइडलाइन, वीपीएन का इस्तेमाल, आदि। हमने आपके ऑनलाइन डेटा को परमानेंट रूप से मिटाने और बिट्रैसर फाइल इरेजर जैसे कुशल फाइल इरेजर सॉफ्टवेयर के उपयोग के महत्व के बारे में भी गहराई से सीखा।

इंटरनेट बहुत सुरक्षित स्थान नहीं है, और आपको यह सुनिश्चित करने में सभी सावधानी बरतनी चाहिए कि आपका पर्सनल डेटा ऑनलाइन ब्रीच और हमलों से सुरक्षित है। ब्लॉग में बताई गयी तकनीक और टूल आपकी ब्राउजिंग को सुरक्षित बनाने में एक मूल्यवान सहयोगी हो सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *